Tulsi Vivah 2023: इस साल तुलसी विवाह पर बन रहा है बहुत ही शुभ संयोग, जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त.. – दैनिक जागरण (Dainik Jagran)

सनातन धर्म में तुलसी के पौधे को पूजनीय माना गया है। तुलसी का पौधा औषधीय गुणों से तो परिपूर्ण हैं ही। साथ ही धार्मिक दृष्टि से भी इसका बहुत अधिक महत्व है। तुलसी के बीजों को सब्‍जा बीज के नाम से जाना जाता है। हिंदू धर्म के अनुसार तुलसी विवाह का दिन शुभ दिनों में से एक माना जाता है।
नई दिल्ली, अध्यात्म डेस्क। Tulsi Vivah 2023: हिंदू धर्म में तुलसी विवाह के ही दिन से शुभ और मांगलिक कार्यों की शुरुआत मानी जाती है। इस साल यानी 2023 में तुलसी विवाह के शुभ अवसर पर अद्भुत संयोग बन रहा है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार, देवउठनी एकादशी पर भगवान विष्णु अपनी योग निद्रा से जागते हैं और द्वादशी तिथि के दिन भगवान विष्णु और तुलसी जी का विवाह होता है।

कब है तुलसी विवाह

इस साल 23 नवंबर 2023 को देवउठनी एकादशी है। इसके एक दिन बाद यानी 24 नवंबर 2023 को  तुलसी जी का विवाह होगा। तुलसी विवाह के बाद से ही शादी-विवाह आदि के शुभ मुहूर्त शुरू हो जाते हैं। तुलसी विवाह के दिन लोग अपने घरों में तुलसी और शालिग्राम का विवाह रचाते हैं। ऐसा करने से व्यक्ति के भाग्य में वृद्धि होती है।

कैसे मनाएं तुलसी विवाह

तुलसी विवाह के दिन अपने घर में यज्ञ और सत्यनारायण की कथा कराने से विशेष लाभ मिलता है। तुलसी विवाह घर या मंदिर में मनाया जा सकता है। इस दिन शाम तक या तुलसी जी का विवाह होने तक व्रत रखा जाता है। सबसे पहले तुलसी जी के पौधे और भगवान विष्णु की मूर्ति को स्नान कराया जाता है। इसके बाद तुलसी के पौधे को लाल साड़ी या चुनरी, आभूषण औ बिंदी आदि के साथ एक दुल्हन की तरह सजाया जाता है। विष्णु जी की मूर्ति को धोती पहनाई जाती है। अब इन दोनों को धागे के माध्यम से एक साथ बांधा जाता है। विवाह में तुलसी जी और भगवान विष्णु पर सिंदूर और चावल की वर्षा की जाती है। इसके बाद सभी भक्तों को प्रसाद बांटा जाता है।

जानिए तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त

तुलसी विवाह के लिए अभिजीत मुहूर्त 24 नवंबर 2023, शुक्रवार की सुबह 11 बजकर 43 मिनट से दोपहर 12 बजकर 26 मिनट तक रहेगा। वहीं तुलसी विवाह के लिए विजय मुहूर्त 24 नवंबर 2023, शुक्रवार की दोपहर 1 बजकर 54 मिनट से दोपहर 2 बजकर 38 मिनट तक रहेगा। इन शुभ मुहूर्त में भगवान शालिग्राम और माता तुलसी का विवाह रचाने से व्यक्ति को विशेष लाभ प्राप्त होगा।

ये बन रहा है शुभ संयोग

तुलसी विवाह कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि के दिन किया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक शुक्ल द्वादशी तिथि 23 नवंबर 2023 की शाम 5 बजकर 9 मिनट से प्रारंभ होगी और 24 नवंबर, शुक्रवार की शाम 7 बजकर 45 मिनट पर समाप्त होगी। तुलसी जी को धन की देवी मां लक्ष्मी का अवतार माना गया है। वहीं शुक्रवार का दिन मां लक्ष्‍मी को समर्पित है। इस साल तुलसी विवाह 24 नवंबर 2023, शुक्रवार के दिन होगा। ऐसे शुभ संयोग में अपने घर में शालिग्राम-तुलसी विवाह रचाने से व्यक्ति को अपार धन और सुख-समृद्धि की प्राप्ति होगी।
डिसक्लेमर: ‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।’

source


Posted

in

by

Tags:

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *